Tuesday, February 24, 2009

जुनून की तलाश में...




पांव जकड़ गए हैं, और रास्ते खो गए,
इंतेज़ार की राह में, कयामत की आश में.
हूँ मैं फिर से उस जुनून की तलाश में,
कभी इस चाह में, कभी उस आश में.

1 comment:

Shishir said...

pav ki jakdan ko tod do,
rast jo kho gaya use jara man se dhoond lo.
he manushya hain samartya pas tere itna,
kah raha shishir jami ko asma se jod de hain utna